Articles

COVID-19 and climate discourse: Sustaining momentum

28 Aug 2020

Since the COVID-19 was declared as a pandemic, it has spread across 200 countries and has had massive ramifications on political, economic, financial, and social structures across the world. Governments, businesses, and organisations have had to take drastic measures to curb the spread of the disease.

पानी की होगी कमी: वर्षा जल संचयन को बनाना होगा एक जन आंदोलन

18 Aug 2020

जल संसाधन सीमित और दुर्लभ हैं। पानी घट रहा है और साल 2050 तक यह कमी एक बड़ा संकट बन सकती है। ऐसे में हमें वर्षा जल संचयन जैसे जल संरक्षण के स्थायी तरीकों को अपनाना चाहिए। वर्षा जल संरक्षण न सिर्फ मैदानी बल्कि पहाड़ी इलाकों के लिए भी ज़रूरी है।

झारखण्ड: क्वारंटाइन लोगों की ज़िंदगी सोलर से चमकी

17 Aug 2020

लॉकडाउन के बाद दूसरे राज्यों से अपने घर लौटने वाले लोगों के लिए क्वारंटाइन सेंटर्स की कमी एक समस्या बन गयी थी। इस समस्या को देखते हुए प्रशासन ने विद्यालयों को भी क्वारंटाइन सेंटर्स में बदलने का फैसला किया। झारखण्ड के सोलर स्कूलों में रहने वाले प्रवासियों के लिए सोलर प्लांट एक बड़ी सुविधा है अगर यहाँ पर ये सुविधा नहीं होती तो यह जगह लोगों के लिए जेल के समान होती।

Future of electric auto-rickshaws in India

14 Aug 2020

In the post-COVID scenario, the predicted demand of the three-wheeler sector might increase and a shift of commuters from app-based taxies may be expected. To promote electric mobility in India, auto-rickshaws can play a vital role as frontrunners.

TERI's Waste NAMA project collaborates with The Goan to spread awareness in Panaji

06 Aug 2020

GIZ India and TERI under the Indo-German project titled 'Development and Management of Waste NAMA (Nationally Appropriate Mitigation Action) in India' have adopted the city of Panaji for pilot demonstration of better waste management practices.

सोलर से चमके झारखण्ड के स्कूल: लालटेन और दिए से मिली छुट्टी

05 Aug 2020

जगमग पाठशाला परियोजना के अंतर्गत गुमला के बिशुनपुर प्रखंड में कुल 12 विद्यालयों में सोलर पावर प्लांट की स्थापना की गयी। विद्यालयों में स्थापित इन पावर प्लांट्स में इतनी क्षमता है कि विद्यालय की सभी कक्षाओं, कार्यालयों, शौचालय एवं रसोई घर में पर्याप्त रौशनी की सुविधा होती है।

COVID-19 lockdown: Impacts on the auto-rickshaw community

29 Jul 2020

Auto-rickshaws or three-wheelers have become a crucial part of the mobility ecosystem in urban India. One of the most economical modes to travel, autos are popular within cities, particularly for the middle class for short and medium-distance trips within a city.

प्लास्टिक कूड़े के ढेर बन रहे हैं हमारे समुद्र: मिलकर उठाने होंगे कदम

28 Jul 2020

महासागर सबसे बड़े डंपिंग ग्राउंड बन रहे हैं जिसमें हर साल एक मिलियन टन प्लास्टिक कूड़ा पहुँच रहा है। महासागरों में मौजूद लगभग 80 फीसदी कूड़ा, प्लास्टिक का कूड़ा है। इससे समुद्री आबादी जोखिम में है। प्लास्टिक कचरे का उचित प्रबंधन कर इसे रोका जा सकता है।

Carbon finance is a way to conserve India's tigers and their habitat

28 Jul 2020

Ahead of International Tiger Day on 29th July, our ecologist Yatish Lele highlights TERI's efforts to measure the value of ecosystem services in the Dudhwa Tiger Reserve in Uttar Pradesh, reducing human-wildlife conflict in protected areas of India, and public awareness towards wildlife conservation.

The impact of stubble burning and poor air quality in India during the time of COVID-19

27 Jul 2020 | Ms Rita Pandey| | Ms Anuja Malhotra

A holistic approach by government and farmers alike is needed to address the problem of burning crop stubble, which comes at a huge environmental and health cost